इंडियन कोऑपरेटिव डिजिटल प्लेटफॉर्म

हमारे बारे में

दुनिया की सबसे बड़ी सहकारी समितियों में से एक, इफको, का लक्ष्य देश के सभी किसानों और सहकारी समितियों को एक डिजिटल मंच पर जोड़ना है । प्रधान मंत्री की डिजिटल पहल और कैशलेस ड्राइव के अनुरूप, इफको ने एक नया पोर्टल इंडियन कोऑपरेटिव डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म (यूआरएल: www.iffcobazar.in) का शुभारंभ किया है। पोर्टल का उद्देश्य उपभोक्ता, इफको एवं इफको समूह कंपनियों / समितियों के बीच संचार और व्यापार के लिए एक डिजिटल मंच प्रदान करना है। यह पोर्टल 10 प्रमुख भारतीय भाषाओं (हिंदी / अंग्रेजी / बंगाली / मराठी / गुजराती / पंजाबी / तेलुगू / तमिल / कन्नड़ / मलयालम) में उपलब्ध है।

मुख्य विशेषताएं

  1. रेजिस्ट्रेशन सुविधा: सोसाइटी / व्यक्तियों के लिए, मोबाइल नंबर / आधार के द्वारा ।
  2. सूचना: सहयोग,सहकारी समितियों का गठन, उनके नियम और विनियम आदि।
  3. सहकारिता के लिए: इफको सदस्य समितियाँ, जैसे नाम, पता, संपर्क विवरण, बैंक खाता विवरण, इफको के साथ किया गया व्यवसाय और खरेदे गए उत्पादों की जानकारी।
  4. व्यवसाय के अवसर: व्यवसाय संबंधी प्रश्नों को संबोधित करने के लिए इफको और समूह कंपनियों के साथ-साथ सोसाइटी / व्यक्तियों के लिए व्यापार के अवसरों पर जानकारी, एकल संपर्क बिंदु विवरण के साथ।
  5. चर्चा: पप्रश्न पूछने और विचार विमर्श / सर्वोत्तम अभ्यासों को शेयर करने के लिए एक मंच प्रदान करता है। यहाँ टिप्पणियां और सुझाव देने की सुविधा भी दी गयी हैं ।
  6. सीखें: विभिन्न विषयों पर वीडियो देखने के माध्यम से स्वयं सीख सकते हैं, जैसे पशु-पालन, पालन-पोषण, मृदा परीक्षण, कैशलेस भुगतान आदि की प्रभावी प्रक्रियाएँ ।
  7. ऑनलाइन मंडी: कृषि उत्पाद, पशुधन, खेती-उपकरण, आदि के लिए संभव खरीदारों / विक्रेताओं पर सूचना और खरीदार / विक्रेताओं की आवश्यकताओं की सूची के लिए सुविधा दी गयी है।
  8. ई-कॉमर्स: इफको के उत्पाद और सेवाओं के समूचे विस्तार और सोसाइटी (समूह ख़रीद) / व्यक्तियों (व्यक्तिगत खरीद) के लिए ऑनलाइन खरीद सुविधा।
  9. आयोजन/कार्यक्रम: इफको और समूह कंपनियों द्वारा आयोजित होने वाले कार्यक्रम जैसे कि किसानों की बैठक / क्षेत्र कार्यक्रम / मेडिकल / पशु चिकित्सा जांच आदि की जानकारी मिलती है आयोजित कार्यक्रमों की फोटो और विडीओ आगंतुकों के सवाल / टिप्पणियों को संबोधित करने के लिए हेल्पलाइन नंबर, हेल्पडेस्क ई-मेल आईडी।

डॉ. यू.एस. अवस्थी (प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी)

Dr. U. S. AWASTHI

MD & CEO

प्रतिष्ठित बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से कैमिकल इंजीनियर की डिग्री प्राप्त करने वाले डॉ. अवस्थी, वैश्विक रासायनिक खाद क्षेत्र के जाने-माने पेशेवर और अधिकारी हैं। लगभग 5 दशकों के अपने अनुभव के साथ, डॉ. अवस्थी ने इफको को विश्व की अग्रणी खाद उत्पादक कंपनी बनाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनके नेतृत्व में इफको ने लगभग हर मोर्चे पर तेज़ी से विकास किया है और उन्होंने विविधीकरण के जरिये इसके कार्यक्षेत्र का विभिन्न क्षेत्रों में विस्तार किया है, जैसे कि साधारण बीमा, ग्रामीण दूरसंचार, ग्रामीण खुदरा व्यापार, एस.ई.ज़ेड. आदि। इफको के अलावा, डॉ. अवस्थी कई भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के निदेशक मंडल के सदस्य हैं।

40,000 सदस्यीय सहकारी समितियों में 5 करोड़ से अधिक सदस्यों के साथ, भारतीय किसान फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव (इफको) दुनिया की सबसे बड़ी कृषि सहकारी समितियों में से एक है, जो 5 अरब डॉलर का कारोबार करता है। यह उत्तम क्वालिटी के उर्वरकों की आपूर्ति करता है और कृषि उत्पादकों को सेवाएं प्रदान करता है। सहकारी समितियां भारत में पांच उर्वरक उत्पादन संयंत्र संचालित करती हैं और कैनडा , पेरू और अर्जेंटीना में निवेश के अलावा, ओमान, जॉर्डन और सेनेगल के उर्वरक उत्पादन संयंत्रो में व्यापारिक रुचि रखता हैं। ग्रामीण भारत और किसानों के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य या पेयजल आपूर्ति के क्षेत्र में प्रदत्त सेवाओं के कारण इफ्को यहाँ एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

इफको सदस्य सोसाइटी और किसानों को सेवा देने के लिए इंडीयन कोऑपरेटिव डिजिटल प्लेटफॉर्म का निर्माण किया गया है। एक जीवंत ऑनलाइन समुदाय के विकास के लिए इंडीयन कोऑपरेटिव डिजिटल प्लेटफॉर्म इफको का अग्रणी प्रयास है। किसान की विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के उद्देश्य से यह एकीकृत मंच बनाया गया है, यह मंच ग्रामीण ई-कॉमर्स, चर्चा मंच, बहुभाषी चैट और मनोरंजन सहित विभिन्न सेवाएँ प्रदान करेगा।

लॉन्च के अवसर पे डॉ यू.एस. अवस्थी ने कहा, यह सशक्त किसानों और सदस्यों के ऑनलाइन समुदाय के निर्माण में एक महत्वपूर्ण कदम है। हमें विश्वास है कि किसानों के लिए पूरे देश में बहुत से अवसर हैं। यह प्लेटफॉर्म हमारे सदस्यों और किसानों को न केवल हमारे साथ जुड़ने के लिए, बल्कि सर्वोत्तम प्रक्रियाओं को साझा करने और पूरे देश के अन्य किसानों से सीखने का अवसर देगा। हम इस मंच पर विभिन्न तकनीक युक्त पहलों के माध्यम से नकद रहित अर्थव्यवस्था और एक डिजिटल भारत के सपने को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम किसानों को इंटरनेट का उपयोग करने के लिए शिक्षित करेंगे।